HomeInternetGoogle का अविष्कार किसने किया? - Google Ka Avishkar Kisne Kiya

Google का अविष्कार किसने किया? – Google Ka Avishkar Kisne Kiya

हमें आज किसी भी चीज के बारे में जानकारी चाहिए हो तो हम जल्दी से गूगल सर्च इंजन खोल कर जवाब ढूंढ लेते हैं। गूगल हमें सही और सटीक जवाब देने का विश्वस्त जरिया है। इंटरनेट की दुनिया में गूगल सबसे बड़ी कंपनी है। क्या आप जानते हैं, गूगल का आविष्कार किसने और कब किया?

पता नहीं……. तो आइए जानते हैं इस लेख द्वारा। “गूगल का आविष्कार किसने किया” यह जानने के लिए आप इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

गूगल का आविष्कार किसने किया?

इंटरनेट की दुनिया की सबसे प्रसिद्ध और मल्टीनेशनल कंपनी गूगल को Sergey Brin और Larry Page ने 4 सितंबर 1998 मे बनाया।शुरुआत मे इसका नाम Googol था जिसका मतलब है एक बड़ी संख्या (1 के पीछे 100),स्पेलिंग की गलती की वजह से इसका नाम Google बन गया।

स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी मे पढ़ाई कर रहे Sergey Brin और Larry Page ने 1995 मे कंप्यूटर इंजिनियर में पीएचडी के दौरान एक प्रोजेक्ट के रूप में इसका अविष्कार किया था। लेकिन आज गूगल का जो विशाल रूप हम सब देखते है उसको बनाने में बहुत से इंजिनियर्स और वैज्ञानिको का योगदान है।

Sergey Brin और Larry Page वर्तमान मे गूगल के सबसे बड़े शेयर होल्डर्स है। Sergey Brin और Larry Page के साथ Scott Hasan भी गूगल के इस प्रोजेक्ट पर साथ मे काम कर रहे थे।ज्यादातर गूगल के कार्ड को इन्होने ही टाइप किया था।पर Scott Hasan रोबोटिक मे करियर बनाने की चाह मे गूगल को एक कंपनी की तरह रजिस्टर्ड करने से पहले ही इस प्रोजेक्ट को छोड दिया और 2006 मे Willow Garage नामक कंपनी को लांच किया।इतना महत्वपूर्ण योगदान देने के बाद भी,छोड देने की वजह से कंपनी के फाउंडर नही बन पाए।

तकरीबन दुनियाभर के 90% से ज्यादा लोग गूगल के बारे मे जानते है और इंटरनेट पर गूगल का किसी न किसी रूप मे उपयोग करते है।

शुरुआत मे गूगल को Search Engine के रूप से जाना जाता ,पर समय के साथ-साथ इंटरनेट का विकास हुआ और अब वेबसाइट और ब्लॉग को एनलाइज(Analysis) कर के लोगो द्वारा ढूढे गए सवालों के जवाब को पाने में मदद करता है। दुनिया के हर कोने मे गूगल ने अपने प्रोडक्ट्स और सर्विस को पहुंचा दिया।गूगल ने क्लाउड कम्प्यूटिंग, साफ्टवेयर के साथ हार्डवेअर मे भी अपना प्रभुत्व स्थापित किया। सभी मोबाइल मे यूज होनेवाला “Android ” आपरेटिंग सिस्टम हो या फिर वीडियो प्लेटफार्म “YouTube ” आदि गूगल के ही invention और प्रोडक्ट है।

गूगल का उद्देश्य इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारी को आसानी से ढूँढना व क्रम में लगाना है। इसके अतिरिक्त गूगल ऑनलाइन विज्ञापन व अन्य सेवाएं देकर अपने व्यापार को धीरे-धीरे बढा रहा है।गूगल की तरक्की के साथ इसमे नए-नए फीचर्स जुडते गए।

यह भी पढ़ें:Virtual Reality क्या है? यह कैसे काम करता है ?

1998 मे पहली बार गूगल सर्च पेज पर गूगल डूडल देखने को मिला।

2005 मे गूगल ने Android कंपनी को खरीद लिया। आज तकरीबन 80 परसेंट लोगों के पास एंड्रॉयड आपरेटिंग सिस्टम वाले मोबाइल फोन है और हर दिन 15 लाख से ज्यादा लोग नया डिवाइस खरीद रहे हैं। इससे ही एंड्राइड सिस्टम की लोकप्रियता का अंदाजा लग जाता है।जैसे-जैसे कंपनी तरक्की और कमाई करती गई वैसे वैसे और अधिक दूसरी वेबसाइट्स को गूगल ने खरीद लिया। गूगल द्वारा खरीदी गई कुछ वेबसाइट के नाम इस प्रकार है:

  • Android
  • Applied Semantics
  • dmarc Broadcasting
  • YouTube

वर्तमान मे गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई एक भारतीय-अमेरिकी व्यावसायिक कार्यकारी है जो गूगल के पैरंट कंपनी अल्फाबेट का नेतृत्व करते हैं। इसके साथ ही सुंदर पिचाई गूगल के प्रमुख शेयरहोल्डर में से एक हैं। पूरे भारत के लिए यह एक गर्व की बात है।गूगल को नई कार्यप्रणाली के साथ बेहतरीन सर्च इंजिन बनाया गया।

गूगल इंटरनेट की दुनिया में विश्वविख्यात सर्च इंजन है।बिना गूगल के हम अपने जीवन की कल्पना नही कर सकते है।
दोस्तों,आपको इस आर्टिकल द्वारा “गूगल का आविष्कार किसने किया और कब किया” इसके बारे में संपूर्ण जानकारी विस्तार से मिल गई होगी। आप इस ज्ञानवर्धक व जरूरी जानकारी को अपने मित्रों एवं पारिवारिक सदस्यों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद!!!

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Advertisment

You might also like...