HomeInternetMetaverse क्या है? यह कैसे काम करता है (पूरी जानकारी)

Metaverse क्या है? यह कैसे काम करता है (पूरी जानकारी)

Metaverse Kya Hai: मेटावर्स यानि Future Virtual World।एक उदाहरण द्वारा समझते है- हमने बर्थडे पार्टी का आयोजन करने की सोची,पर किसी कारणवश आयोजित नही हो पाई। ऐसे समय मे आप घर बैठे ही मेटावर्स की दुनिया मे जाकर दोस्तो के साथ पार्टी,डांस, गेम्स आदि का मजा उठा सकते है।

आप सभी को सुनने में शायद यह सच ना न लगे कि कैसे हम बिना पार्टी का आयोजन किए, पार्टी का मजा उठा रहे हैं। पर यह सब पॉसिबल होगा आनेवाले भविष्य मे,मेटावर्स की दुनिया में। मेटावर्स के वर्चुअल वर्ल्ड मे आप घूम-फिर सकते है,इन्जॉय कर सकते है।मेटावर्स हमारी वर्तमान की दुनिया,हमारे लाइफस्टाइल को बदल देगा।

दुनियाभर की बड़ी-बड़ी कंपनियो ने इसपर काम करना भी शुरू कर दिया है जैसे-Facebook, Microsoft, Nvidia, Epic Games आदि। अब आपके मन में मेटावर्स को लेकर और भी जिज्ञासा बढ़ गई होगी,आइए विस्तार से जानते है”Metaverse Kya Hai?”

मेटावर्स क्या है:

Metaverse एक वर्चुअल दुनिया है जहां आप वर्चुअली प्रवेश करते हैं जिसमे आपको अहसास होगा कि आप फिजिकली उस जगह पर मौजूद हैं।मेटावर्स की दुनिया बिल्कुल टीवी शो और मूवी जैसी दुनिया है।Metaverse को इंटरनेट का Updated वर्जन माना जा रहा है।

साधारण शब्दों में कहें तो Metaverse एक आभासी दुनिया है या फिर 3D स्पेक्स से बना हुआ एक वर्चुअल वर्ल्ड है।
जहां आपकी एक अलग पहचान होती है।इस वर्चुअल दुनिया में आप घूमने फिरने के अलावा दोस्तों के साथ पार्टी भी कर सकते हैं,गेम्स खेल सकते है,इवेंट अटेंड कर सकते है।

यह अनलिमिटेड वर्ल्ड है,जैसे-जैसे टेक्नोलॉजीस बढ़ती जाएगी,इसमे नए-नए फीचर्स ऐड(add) होते जाएंगे।

मेटावर्स भविष्य में आने वाली ऐसी टेक्नोलॉजी है जिससे हम रियल वर्ल्ड में जीते हुए भी वर्चुअल वर्ल्ड में जा सकते हैं। यहां तक कि दूर स्थित रिश्तेदारो,दोस्तों से मिल सकते हैं, बात कर सकते हैं, छू सकते हैं।मेटावर्स आपके और आपके दोस्तों के बीच की दूरी को वर्चुअल वर्ल्ड के माध्यम से खत्म कर देगा। वर्चुअल वर्ल्ड में आप दोनों एक दूसरे के सामने होंगे। इस वर्चुअल वर्ल्ड में प्रवेश के लिए एक अलग वर्चुअल प्रवेश पत्र होगा।

Metaverse का अर्थ क्या है?

जैसा कि हम मेटावर्स को देखते हैं, यह दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है। एक है मेटा और दूसरा वर्स।Meta का अर्थ है beyond यानि हमारी सोच से परे। Verse का अर्थ है Universe यानि दुनिया।तो मेटावर्स का मतलब हुआ एक ऐसी दुनिया जो हमारी सोच और समझ से परे हो, सोच से भी आगे हो।

मेटावर्स शब्द की उत्पत्ति कब और किसने की?

मेटावर्स शब्द की उत्पत्ति 1992 में हुई थी। इसे नील स्टीफेन्सन ने अपने स्नोक्रश नामक नोबेल में की थी।उस समय लेखक ने मेटावर्स की कल्पना अपने नाॅवेल मे की ,जो भविष्य मे हकीकत बन जाएगी।
कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक ने अपना नाम मेटा कर दिया। जिसके बाद यह नाम काफी प्रचलित हो गया और कहा गया की कंपनी अब अपना पूरा ध्यान नई टेक्नोलॉजी मेटावर्स पर केन्द्रित करेगी।

ऐसे करे मेटावर्स की वर्चुअल वर्ल्ड मे प्रवेश:

अगर आप भी मेटावर्स की दुनिया में जाने की चाहत है तो आपको कुछ बेसिक चीजों की जरूरत होगी जैसे- लैपटॉप,हाइ स्पीड इंटरनेट और वीआर हैडसेट और बाद मे हैडसेट गियर की भी जरूरत पड सकती है। फेसबुक से पहले साल 2017 में Decentraland नामक स्टार्टअप कंपनी ने इस कॉन्सेप्ट की शु​रुआत की थी। जिसके बाद आज कई कंपनियां Metaverse तकनीक बाजार में उतार चुकी हैं।

इस वर्चुअल दुनिया में एंट्री करने के लिए आपको https://decentraland.org/ वेबसाइट पर जाना होगा। जहां आपको सबसे पहले अपना एक अवतार क्रिएट करना होगा। इस अवतार को आप कोई भी नाम या वेशभूषा दे सकते हैं। Metaverse की दुनिया में आप इसी नाम और अवतार के नाम से जाने जाएंगे।

यहां कई रियल स्टेट्स कंपनियां जमीन तैयारी कर रही हैं जिसके बाद आप अपना प्लॉट,जमीन और फ्लैट्स भी खरीद सकते हैं। जानकारी के लिए बता दें कि Metaverse में जाने के लिए आप decentraland के अलावा The Sandbox और फेसबुक कंपनी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

मेटावर्स के फायदे और नुकसान:

  • हर अविष्कार के अगर फायदे होते है तो कुछ नुकसान भी यकीनन होते है।
  • मेटावर्स इंटरनेट की दुनिया मे बढता हुआ कदम है।इससे हमे होने वाले फायदे:
  • हमारी जीवन शैली मे मनोरंजक बदलाव आ जाएगा।
    जिस तरह हम टेलीफोन से वीडियो कॉल तक आए मतलब बात करने के साथ-साथ सामने वाले को देख भी सकते है।
    जिनसे हम वीडियो कॉल पर बात कर रहे थे अब मेटावर्स के आने के बाद वर्चुअल वर्ल्ड मे जाकर देख सकेंगे, छू सकेंगे, बात कर सकते है और हाथ भी मिला सकते है।यानि की वर्चुअल वर्ल्ड, रियल वर्ल्ड की दूरी को खत्म कर देगा।
    मेटावर्स पर आप शॉपिंग करने की सुविधा का मजा ले पाएंगे और आपको बिजनेस करने के लिए एक प्लेटफार्म भी प्रदान करेगा।
  • मेटावर्स पर आप अपना खुद का एक वर्चुअल अवतार बना पाएंगे,मतलब मनपसंद तरह से खुद को बनाना,एक सुखद अनुभव से कम नही।
  • मेटावर्स की मदद से आप घर बैठे ही मीटिंग कर सकते हैं, बातें कर सकते हैं, गेम्स खेल सकते हैं, गेट टुगेदर पार्टी भी इंजॉय कर सकते हैं, मतलब हर असंभव चीज को संभव होता हुआ देख सकते हैं।
  • यह हमारे जीवन को एडवांस तकनीक की तरफ ले जाएगा।
    जैसे-जैसे मेटावर्स टेक्नोलॉजी मे विकास होता जाएगा, वैसे-वैसै इसके फायदो से हम रूबरू होते जाएंगे।

मेटावर्स के नुकसान:

  • मेटावर्स की दुनिया मे जाने के लिए हाइ स्पीड इंटरनेट की आवश्यकता होगी। इंटरनेट के ज्यादा उपयोग से रेडिएशन मे बढावा होगा,जो अंतत:पर्यावरण के लिए नुकसानदेह है।
  • वर्चुअल वर्ल्ड मे प्रवेश करने के बाद रियल वर्ल्ड मे क्या है रहा है,पता ही नही चलेगा।
  • इंटरनेट जनित समस्याए जैसे-कानो की समस्या,समय का अधिग्रहण, आंखो के रोग इत्यादि।
  • मेटावर्स के निर्माण की राह काफी संघर्ष पूर्ण है।इसके लिए हमे इंटरनेट की स्पीड को बढाना होगा।

दोस्तों आज हमने इस आर्टिकल में “Metaverse क्या है” व इसके बारे में पढ़ा। मेरी तरह, आपको भी इस आभासी दुनिया में जाने की उत्सुकता बढ़ गई होगी क्योंकि हर कोई नया अनुभव करना चाहता है। यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा, किस तरह हम मेटावर्स की वर्चुअल वर्ल्ड का मजा ले पाएंगे। आशा है आप को उपरोक्त आर्टिकल “मेटावर्स क्या है” जरूर पसंद आया होगा व इसकी रोचक जानकारी को अपने दोस्तों और मित्रों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद!!!

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Advertisment

You might also like...